Republic Day Speech In Hindi | Republic Day Speech In Hindi 2018 | Republic Day Speech | Republic Day Speech In English | Republic Day Speech For Kids | Republic Day Speech For Teachers | Short Speech On Republic Day | 26 January Speech | Republic Day Images | Republic day pics | Republic day hd images | 26 January Republic Day Speech In Hindi | Republic Day Speech In Hindi Pdf

Monday, 11 December 2017

Republic Day Speech In Hindi

Republic Day Speech in Hindi 

गणतंत्र दिवस भारत में जब भी आता है इसे बहुत ही धूमधाम से मनाया जाता है खासकर स्कूल और कॉलेज में और ये एक बहुत ही महत्वपूर्ण त्यौहार भी माना जाता है  इसिलए इसे बहुत ही बड़े अस्तर पर मनाया जाता है । इनमे छोटे से छोटे और बड़े से बड़े विद्यार्थी बढ़ चढ़ के हिस्सा लेते है और और अपनी कला का पर्दर्शन करते है इससे विद्यार्थियों के अन्दर की प्रतिभा कौसल तथा ज्ञान उभर के बाहर आता है ।
तो चलिए हम यहाँ कुछ बहुत ही आसान भाषा में विद्यार्थियों तथा शिक्षको के लिए अलग अलग 7 तरह के भाषण  प्रस्तुत करने जा रहे है अगर आपको जो भी भाषण  अच्छा लगे उसको अपने स्कूल और कॉलेज में दे सकते है । इन 7 भाषण  में से कोई भी भाषण  आप अपने स्कूल में गणतंत्र  दिवस पर प्रस्तुत कर सकते है। 

Republic Day Speech In Hindi - 1

सबसे पहले तो मै अपने सभी बड़े को और छोटे का सुबह का नमस्कार करता हु । मेरा नाम दीपक कुमार है और मैं कक्षा 7 में पढ़ता हूं। जैसा की हमलोग जानते है आज 26 january के पावन मौके पर इकठा हुए अपने देश के पवित्र पर्व गणतंत्र दिवस मनाने के लिए । मैं आप सब के  सामने एक सुनहरा सा  भाषण पढ़ना चाहता हूं। पढने से पहले मै अपने क्लास टीचर का धन्यवाद देना चाहूंगा जिनकी वजह से मुझे अपने स्कूल के इस प्रांगन में  गणतंत्र दिवस के शुभ अवसर पर मुझे अपने देश के बारे में कुछ कहने का सुनहरा अवसर मिला है ।

15 अगस्त 1947 से ही भारत एक स्वतंत्र देश है।  15  अगस्त 1947  को ब्रिटिश शासन से भारत को स्वतंत्रत देश घोषित कर दिया और इसी दिन को हम स्वतंत्रता दिवस के रुप में मनाते हैं। जबकि , 26 जनवरी 1950 को हम गणतंत्र दिवस के रूप में मनाते हैं। भारत का संविधान 26 जनवरी 1950 को लागू हुआ, इसलिये हमलोग  इस दिन को हर साल गणतंत्र दिवस के रुप में मनाते हैं। 2018 इस वर्ष, हम भारत का 69वां गणतंत्र दिवस मना रहें हैं।

गणतंत्र का अर्थ है देश में  रहने वाले सभी नागरिको को पूर्ण रूप से आजादी और अपने अधिकारों का पूर्ण रूप से इस्तेमाल करना और रहना और अपने इस महान देश के लिए सही नेता का चुनाव करना इस देश के जनता के पास अधिकार है। इसलिये, भारत को एक गणतंत्र देश कहा जाता  है जहाँ जनता अपना नेता प्रधानमंत्री के रुप में चुनती है। भारत को स्वतंत्र करने  के लिये हमारे महान  स्वतंत्रता सेनानियों ने बहुत ही कठिन संघर्ष किया और बहुत ही  अपने प्राणों की आहूति दी जिससे की उनके  आने वाली पीढ़ी को कोई संघर्ष व लड़ाई ना लड़नी पड़े और वो बस अपने देश को आगे  ले जाएँ।
                                             republic day speech in hindi
हमारे देश में बहुत से महान  नेता है महान नेता है जिनमे से इनलोगों का नाम बहुत ही आदर से लिया जाता है जैसे  महात्मा गाँधी, भगत सिंह, लाल बहादुर शास्त्री ,चन्द्रशेखर आजाद,, सरदार बल्लभ भाई पटेल, लाला लाजपत राय, सुबाश चन्द्र बोश आदि हैं। इनलोगों ने भारत की आजादी के लिए अंग्रेजो से बहुत की कठिन लड़ाई ली थी तब जा के अपना देश आजाद हुआ था । अपने देश के आजादी दिलाने के इनके महान संघर्षो को हम कभी नहीं भूल सकते हैं। हमें ऐसे महान अवसरों पर इन वीर जवानों को  याद करते हुये सलामी देनी चाहिये। बस  इन लोगों की वजह से ही यह  मुमकिन हुआ कि हम अपने देश में आज चैन के साँस ले पा रहे है और अपनी स्वतंत्रता का जशन मना रहे है।

अगर बात करे हम अपने भारत के पहले  राष्ट्रपति डॉ राजेन्द्र प्रसाद की तो उन्होंने कहा था "एक संविधान और एक संघ के क्षेत्राधिकार के तहत हमने इस विशाल भूमि का बहुत बड़ा भाग  प्राप्त किया है और  यहाँ रहने वाले 320 करोड़ की जनता  के लोक-कल्याण के लिये जिम्मेदारी लेता है”। और कितनी शर्म की बात है की आज भारत के आजाद हुए इतने सालो के बाद भी हम अपने देश में अपराध, भ्रष्टाचार और हिंसा (आतंकवाद, बलात्कार, चोरी, दंगे, हड़ताल आदि के रुप में) से लड़ रहें हैं। तो मई अपने भासण में आप सभी से ये यही आग्रह करना चाहता हु की ऐसे गंदगी से बचने के लिए हमे एकजुट होकर फिर से लड़ना होगा नहीं तो ये हमारे देश को बहुत पीछे ले कर के चला जाएगा । और इसके बाद हमे  अपने सामाजिक मुद्दों जैसे गरीबी, बेरोजगारी, अशिक्षा, ग्लोबल वार्मिंग, असमानता आदि से अवगत रहना चाहिये ताकि भविष्य में ऐसी कोई घटना हो तो हम इससे लड़ने के लिए सक्षम हो ।

हमारे मनानिये राष्ट्रपति डॉ अब्दुल कलाम ने कहा है कि “अगर एक देश भ्रष्ट्राचार मुक्त होता है तो एक  सुंदर मस्तिष्क का एक राष्ट्र बनता है, और मैं दृढ़ता से महसूस करता हूं कि हमारे घर के तीन प्रधान सदस्य हैं जो अंतर पैदा कर सकते हैं। वो पिता, माता और एक गुरु हैं”। हमें भारत के एक नागरिक होते हुए अपने देश के बारे में सोचना चाहिए की अपने देश को आगे कैसे बढाए और हर मुमकिन प्रयास करनी चाहिए ।


जय हिन्द , जय भारत ।

Republic Day Speech In Hindi - 2

मेरे आदरणीय प्रधानाध्यापक सर ,  मैडम और मेरे सभी दोस्तों को  सुबह का नमस्कार। हमे गणतंत्र दिवस के इस  शुभ अवसर पर मुझे कुछ बोलने का मौका मिला है इसके लिए मै आप सभी का आभार प्रकट करता हु। मेरा नाम दीपक कुमार  है और मैं कक्षा 7 में पढ़ता हूँ।

आज, हमारा देश 69वा  गणतंत्र दिवस मना रहा है और ये एक बहुत ही ख़ुशी की बात है की हम सभी इस पावन पर्व पर एक साथ इक्कठा हुए है और इसका आनंद ले रहे है। हमारे देश के सभी लोगो को इस बात पर गर्व होना चाहिए की आज हमारा देश बड़ी से बड़ी उच्चइयो को छु रहा है और विकास कर रहा है । और ऐसे ही हमे एक दुसरे का साथ देकर राष्ट्र के विकास और समृद्धि के के पथ पर आगे बढ़ते रहना चाहिए ।  26 जनवरी को हर वर्ष भारत में हमलोग  गणतंत्र दिवस मनाते हैं क्योंकि इसी दिन भारत का संविधान लागू हुआ था। 1950 से ही लगातार भारत का गणतंत्र दिवस मना रहें हैं क्योंकि इसी दिन 26 जनवरी 1950 को भारत का संविधान लागू हुआ था और हमे अपने सविधान पर गर्व है और इसका सम्मान करते है ।

भारत दुनिया का  सबसे एक लोकतांत्रिक देश है जहां के नागरिक अपने देश के नेता खुद चुनते है। भारत के सबसे पहले राष्ट्रपति डॉ राजेन्द्र प्रसादथे। भारत को जब आजादी मिली उसके बाद से हमारे देश ने बहुत ही कामयाबी हासिल की है और आज ये सबसे ताकतवर देश के रूप में आकर खड़ा हो गया है । विकास के साथ साथ , कुछ कमियाँ भी खड़ी हुई हैं जैसे असमानता, गरीबी, बेरोज़गारी, भ्रष्टाचार, अशिक्षा आदि और इससे निपटने के लिए हमे एक बार फिर से कमर कसनी होगी और इससे निजत पानी होगी।


धन्यवाद, जय हिन्द!



Republic Day Speech In Hindi - 3

सबसे पहले  मैं अपने आदरणीय प्रधानाध्यापक, शिक्षक, शिक्षिका, और मेरे सभी बड़े और छोटे सहपाठियों को सुबह का नमस्कार कहना चाहूंगा। और जैसा की हमलोग जानते है की आज अपने देश का हमलो 69वा गणतंत्र दिवस मनाने के लिए यहाँ एकजुट हुए है। और ये दिन हमसभी के लिए बहुत ही महत्वपूर्ण और शुभ है।  हम गणतंत्र दिवस 1950 से ही खुशियों के साथ मनाते है । गणतंत्र दिवस के दिन सबसे पहले हमारे देश के मुख्य अतिथि  देश के राष्ट्रीय ध्वज़ को फहराते हैं। और इसके बाद हम सभी कतार में खड़े होते हैं और राष्ट्र-गान गाते हैं जो कि भारत की एकता और शांति का प्रतीक है। और इस खुबसूरत राष्ट्र-गान को हमरे देश के महान  कवि रबीन्द्रनाथ टैगोर ने लिखा  है।

अगर बात करे हम अपने  राष्ट्रीय ध्वज़ की तो इनमे  तीन रंग और 24 बराबर तीलियों के साथ मध्य में एक चक्र है।और इन सभी सभी तीन रंगों का अपना एक अर्थ है। सबसे ऊपर केसरिया रंग जो हमारे देश की मजबूती और हिम्मत और बलिदानों की बलिदानी को दर्शाता  है। मध्य का सफेद रंग जो शांति का प्रतिक है  जबकि सबसे नीचे का हरा रंग वृद्धि और समृद्धि और हरियाली को प्रदर्शित करता है। ध्वज़ के मध्य में 24 बराबर तीलियों है जो एक नेवी नीले रंग का चक्र है वो महान राजा अशोक के धर्म चक्र को प्रदर्शित करता है।

हम हर साल 26 जनवरी को गणतंत्र दिवस मनाते हैं क्योंकि इसी दिन 1950 में ही भारतीय संविधान को लागु किया गया था। हर साल गणतंत्र दिवस पर  इंडिया गेट के सामने नयी दिल्ली में राजपथ़ पर भारत की सरकार द्वारा एक बहुत बड़ा आयोजन किया जाता है जिसमे हर राज्य की झाकिया निकलती है और अंत में जिस राज्य का झाकी अच्छा होता है उन्हें पुरस्कृत भी किया जाता है । और हर  साल, “अतिथि देवो भव:” के कथन के उद्देश्य को पूरा करने के लिये एक मुख्य अतिथि (देश के प्रधानमंत्री) को बुलाया जाता है। और राजपथ पर हमारे देश की सेना परेड के साथ रास्ट्रीय ध्वज को सलामी देते है इन्ह्ने देखने के लिए लाखो में लोग एकत्रित होते है और इन सुनहरे दृश्य का लुफ्त उठाते है।

जय हिन्द, जय भारत



Republic Day Speech In Hindi - 4

आदरणीय प्रधानाध्यापक महोदय , मेरे शिक्षकगण, और मेरे दोस्तों  को सुबह का नमस्कार। मुझे बहुत ख़ुशी जो रही है की गणतंत्र दिवस के इस पावन अवसर पर मुझे कुछ बोलने का मौका मिला है इसके लिए मई आप सभी का आभार प्रकट करता हु | तो चलिए आज की इस शुभ अवसर पर मई कुछ जानकारी देना चाहता हूं। आज हम सभी अपने राष्ट्र का 69वां गणतंत्र दिवस मना रहें हैं। भारत की आजादी के बाद इसको मनाने की शुरुआत सन् 1950 से हुई। हम इसे प्रतिवर्ष  26 जनवरी को मनाते हैं क्योंकि इसी दिन भारत का संविधान लागु हुआ था।

भारत विश्व का सबसे बड़ा लोकतांत्रिक देश है जिसका नेता यहाँ जनता खुद चुनती है । हमारे देश में सभी को बराबर का अधिकार प्राप्त है और यहाँ बिना जनता के मर्जी या वोट से यहाँ कोई मुख्यमंत्री या प्रधानमंत्री नहीं बन सकता है। और यहाँ देश के विकास के लिए हमे अपना सबसे अच्छा प्रधानमंत्री चुनने का पूर्ण हक़ है। हमारे नेता को अपने देश के बारे में अच्छे से मालूम होना चाहिए की हमारा देश आगे कैसे बढे और वो पढ़ा लिखा होना चाहिए। जो की देश के सभी राज्यों , शहरो और गावों के बारे में बराबर सोचे और बिना किसी भेदभाव के जाती, धर्म को छोड़ के देश को विकास करने के बारे में सोचे ।

और आज मै इस मंच से एक बात कहना चाहता हु की हमरा देश का कोई भी नेता हो वो इस देश का अकेले विकास नहीं कर सकता उसके लिए हमसभी को आगे आना पड़ेगा और विकास का भागी बनना पड़ेगा । इस देश को  भष्ट्राचार मुक्त देश बनाने के लिये हम सभी को भी इस बात पर सोचना होगा और सरकार के दिए गए निर्देशों का पालन करना होगा तब जा के ये देश आगे बढेगा । हमारे नेताओं को खुद से कोई  खास व्यक्ति नहीं समझना चाहिये, क्योंकि वोलोग भी हम्मे से ही एक है बस वोलोग अपने क्षमता के अनुसार चयनित हुए  हैं। वोलोग बस एक सिमित समय के लिए ही होते है।

आज का स्वतंत्र भारत हमे ऐसे ही प्राप्त नही हुआ है इसके लिए बहुत सी बलिदानिय दी गई है । इसलिए हमे इस क़ुरबानी को न भूलते हुए अपने देश के विकास में योगदान देना चाहिए | अगर हर एक आदमी यहाँ का जिम्मेवारी नहीं लेगा तो कुछ नहीं होगा , मै बस यही कहना चाहता हु की आप सभी छोटा से छोटा काम से शुरुआत करे जैसे कही भी कूड़ा करकट न फेके ये भी देश के लिए आपका योगदान ही है | अगर आप गन्दगी फैला रहे है तो आप अपना देश की गन्दा कर रहे है , तो आज के इस पावन पर्व पर हमे  प्रण लेना चाहिए की हम गंदगी नहीं फैलाएँगे |


धन्यवाद, जय हिन्द

Click here for.  Republic Day Speech In English

Republic Day Speech In Hindi - 5

मै माननीय अतिथिगण, प्रधानाचार्य, अध्यापक, व अध्यापिकाएं,  और मेरे सीनियर दोस्तों ,को  सुबह का नमस्कार। मेरा नाम.......। मैं कक्षा....में पढ़ती/पढ़ता हूँ। आज मुझे इस पावन अवसर पर कुछ बोलने का सौभाग्य प्राप्त हुआ है जिसके लिए मई आप सभी का आभारी हु । सबसे पहले, तो मैं उन  कक्षा अध्यापक और मैडम का आभार प्रकट करना चाहता हु जिन्होंने मुझे गणतंत्र दिवस के इस शुभ अवसर पर मुझे कुछ बोलने का मौका दिया है । हर साल की भाति इस साल भी हमारे देश ने बहुत ही अच्छा विकास किया है और ये सब लोगो की एकजुटता से ही संभव हुआ है ,मेरे प्रिय साथियों, हम आज यहाँ अपने राष्ट्र का 69वा गणतंत्र दिवस मना रहे है । हम प्रति वर्ष 26 जनवरी को  गणतंत्र दिवस मनाते हैं क्युकी इसी दिन हमारे देश का संविधान लागु किया गया था ।

मुझे एक भारतीय होने पर बहुत ही गर्व महसूस होता है। क्युकी इस दिन हमलोग अपने देश के लिए राष्ट्रीय ध्वज को दिल से सम्मान पर्दर्शित करते है और राष्ट्रगान गेट है और ये पर्व भारत के चारो कोने में बहुत ही हर्शोलास के साथ मनाया जाता है । ये पूरे देश में स्कूलों, कॉलेजों, विश्वविद्यालयों, शैक्षिण संस्थाओं, बैंको और भी बहुत से स्थानों पर बहुत ही खुशी ख़ुशी मनाया जाता है। हमारा संविधान 26 जनवरी, 1950 को भारतीय संविधान लागू हुआ था।

26 जनवरी को हमलोग इसलिए गणतंत्र दिवस मनाते है क्यों की इसी दिन कांग्रेस ने 1930 में भारतीय स्वतंत्रता यानि की पूर्ण स्वराज घोषित किया था । और 1950 में, संविधान को ग्रहण करने बाद, गणतंत्र भारत के पहले राष्ट्रपति, डॉ.राजेन्द्र प्रसाद बने।

इस दिन भारत की राजधानी न्यू दिल्ली में बहुत ही भव्य परेड का आयोजन होता है जिसमे तीनो सेना के वीरता का जबरदस्त पर्दर्शन किया जाता है और इन्हें देखने के लिए लाखो की संख्या में भीड़ इक्कठा होती है । भारतीय सेना के साथ साथ , देश के राज्य भी अपने देश की संस्कृति और परंपराओं की झाकिया निकलते है और परेड में भाग लेते है । इस दिन पर, हमारा देश में हरसाल कोई  मुख्य अतिथि (किसी दूसरे देश के राजा, प्रधानमंत्री या राष्ट्रपति) को आमंत्रित किया जाता है  “अतिथि देवो भव” की परंपरा को निभाते हुये भारत इस बात की बहुत ही निष्ठा पूर्वक इसकी कदर  करता है। भारत के राष्ट्रपति, भारतीय सेनाओं के कमांडर-इन-चीफ, भारतीय सेनाओं द्वारा सलामी लेते हैं। भारत के प्रधानमंत्री, अमर जवान ज्योति, इंडिया गेट पर शहीद हुये भारतीय सैनिकों को पुष्प अर्पित करके श्रद्धाजंलि देते हैं। इस दिन हर भारतीयों के लिए बहुत ही खुशी का दिन होता है , और प्रत्येक भारतीय इस दिन अपने संविधान को दिल से आभार प्रकट करता है ।

जय हिन्द, जय भारत


Click here for. 26 January Speech In Hindi

Republic Day Speech In Hindi - 6

आदरणीय  प्रधानाचार्य, अध्यापक, महोदय  एव अध्यापिकाएं, और मेरे प्यारे दोस्तों को सुबह का नमस्कार। मेरा नांम.......। मैं कक्षा.......में पढ़ता/पढ़ती हूँ। अब मई आपलोगों के सामने गणतंत्र दिवस पर भाषण देने जा  रहा/रही हूँ। सबसे पहले मैं अपने कक्षा अध्यापक व मैडम का आभार व्यक्त करना चाहता हु की उन्होनो मुझे इस काबिल समझा और मुझे इस पावन अवसर पर बोलने का मौका दिया। मेरे प्यारे मित्रों, को बताना चाहता हु की हमलोग हरसाल 26 january को गणतंत्र दिवस मनाते है और ये गणतंत्र दिवस प्रत्येकवर्ष संविधान निर्माण की याद और इसके सम्मान में मनाया जाता है। ये देश के सभी स्कूलों और कॉलेजों में शिक्षक और विद्यार्थियों द्वारा मनाया जाता है, हांलाकि, पूरे देश के सभी राज्यों के सरकारी कार्यालयों और अन्य संस्थानों में भी मनाया जाता है। और इसका सबसे बड़ा मनोरंजन का दृश्य दिल्ली के india गेट पर देखने को मिलता है यहाँ पर दुसरे देश से अतिथि भी बुलाए जाते है हर साल की तरह , और यहाँ हमारे देश के वीर जवानों द्वारा सेना का बल और प्रतिभा दिखाया जाता है यह दृश्य देखने के लिए इंडिया के हर कोने से लाखो की संख्या में लोग आते है और इसका आनंद लेते है ।

इसी  दिन , भारत का संविधान 1950 में अस्तित्व में आया था,जबकि , इसे संविधान सभा के द्वारा 26 नवम्बर 1949 को ग्रहण किया गया था। और इसे 26 जनवरी को, 1930 को भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के द्वारा भारत को पूर्ण स्वराज्य घोषित किया गया था और यही सबसे बड़ा और मुख्य  कारण है कि 26 जनवरी को ही भारत के संविधान को लागू करने के लिये चुना गया। हमारा देश संविधान के द्वारा धर्मनिरपेक्ष, समाजवादी और लोकतांत्रिक गणतंत्र देश घोषित कर दिया गया। हमारे देश के  संविधान के नागरिकों के बीच न्याय, स्वतंत्रता और सम्मान को ध्यान में रखते हुए सुनिश्चित करता है।

हमारे संविधान का प्रारुप संविधानिक सभा में  (389 सदस्य) सदस्यों ने भाग लिया  था। इसके निर्माण में लगभग तीन साल (वास्तव में, 2 साल, 11 महीने और 18 दिन) लगे थे। संविधान सभा के द्वारा 1947 में, 29 अगस्त को, डॉ. भीम राव अम्बेडकर की अध्यक्षता में प्रारुप समिति का निर्माण किया गया  था। प्रारुप समिति के मुख्य सदस्य डॉ.भीम राव अम्बेडकर, जवाहर लाल नेहरु, गणेश वासुदेव मालवांकर, सी.राजगोपालचार्य जी, संजय पाखे, बलवंत राय मेहता, सरदार वल्लभभाई पटेल, कैन्हया लाल मुंशी, राजेन्द्र प्रसाद, मौलाना अब्टुस कलाम आजाद, नालिनी रजन घोष, श्यामा प्रसाद मुखर्जी और संदीप कुमार पटेल थे। प्रारुप समिति के सभी सदस्यों में से लगभग 30 से ज्यादा सदस्य अनुसूचित जाति से थे। और इनमे से कुछ  महत्वपूर्ण महिलाएं भी थी जैसे सरोजनी नायडू, राजकुमारी अमृत कौर, दुर्गा देवी देशमुख, हंसा मेहता और विजय लक्ष्मी पंड़ित थी। और इसी तरह भारत का सविधान पारित हुआ और यहाँ के लोगो को अपना खुद का सरकार चुनने का अधिकार मिला।

भारत को आजादी 15 अगस्त 1947 को ही मिल गई थी , परन्तु  संविधान के पारित होने के बाद ही यह पूरी तरह से  लोकतांत्रिक और गणतंत्र देश बना था। राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में, राष्ट्रीय तिरंगे को 21 तोपो की सलामी दी जाती है और इसके बाद राष्ट्रीयगान जन-गण-मन गाया जाता है। भारत के राष्ट्रपति और दुसरे देश से आये हुए मुख्य अतिथि के सामने भारतीय सेना के द्वारा आयोजित की जाती है। इसमें स्कूल के बच्चे भी बढ़ चढ़ के हिस्सा लेते है और अपने कला का पर्दर्शन करते है । भारत की एकजुटता को दिखने के लिए राजपथ पर सारे राज्यों के झाकिया निकलती है  ।


धन्यवाद, जय हिन्द

Click Here For.  Essay on Republic day In Hindi - गणतंत्र दिवस पर निबंध

Republic Day Speech In Hindi - 7

आप सभी जानते है की 26 जन्वरी को गणतंत्र दिवस मनाया जाता है | 26 जन्वरी 1950 को हमारे  देश भारत का सविधान लागू हुआ था इस दिन को हम 26 january गणतंत्र  दिवस के रूप मे मनाते है.इस वर्ष हम भारत का 69वा गणतंत्र दिवस मनाएँगे. गणतंतरा दिवस हम सभी के लिए बहुत  ही गर्वपूर्ण और स्नेह वाला पर्व  है. हमारा देश भारत आज़ाद हुआ था 15 अगस्त , 1947 को. ना जाने कितने वीरो को अपने जान क़ुरबान करनी पड़ी हूमें यह आज़ादी दिलवाने के लिए. आज़ादी के बाद ज़रूरत थी हूमें, अपने देश के सविधान की यानी के कॉन्स्टिट्यूशन की. और  हमारे देश भारत का सविधान लिखे  डॉ भीम राव  अंबेडकर जी ने. हमारा  ये सविधान अस्तिताव में आया 26 जन्वरी, 1950 को. इस से पहले भारत में गवर्नमेंट ऑफ इंडिया आक्ट (1935) लागू था. तो इस लिए हम हर साल 26 january  को रिपब्लिक डे  के रूप में मनाते है . यह राष्ट्रीय  त्योहार हमारे देश के लिए गौरव का प्रतिक है. ओर यह देश भक्ति की भावना से जुड़ा हुआ है…!!

इस दिन वैसे तो नॅशनल हॉलिडे डिक्लेर्ड ह, पर हर स्कूल, कॉलेज ओर सरकार ऑफिस में रिपब्लिक दे को सेलेब्रेट करते हैं. पुर भारत देश मे गणतंत्र  दिवस हर्षोउल्लास के साथ मनाया जाता है . तरह तरह के रंगारंग कार्यकर्म भी की  जाती ह. सारे भारतिया नागरिक देश के महान वीरो  को श्रधंजलि समर्पित करते हैं. इसके इलावा इस परदे में एन्सी, स्काउट के कॅडेट्स,पुलिस  की टुकड़ियाँ ओर स्कूल स्टूडेंट्स भी भाग लेते हैं. हर परदेश की भव्या झाँकियाँ दिखाई जाती ह.


ओर सर्व-श्रेष्ठ झाँकी को पुरूस्कार भी दिया जाता ह. यह राष्ट्रीय  त्योहार हमारे देश के लिए एक महत्वपूर्ण दिन है. भारत के प्रथम राष्ट्रपति डॉ राजेंद्र  प्रसाद ने सबसे पहला कार्य काल संभाला था. तबसे अब तक इस भारत देश मे कई नीति ओर क़ानून को महत्व  दिया गया जिसे भारत देश के सर्वाधिक नागरिक अपनाते है धन्यवाद ..

और अंत में आपको अगर ये पोस्ट अच्छा लगा हो तो कमेंट और शेयर जरुर करे ताकि दुसरे भाइयो और बहनों का भी स्पीच अच्छे से तैयार हो जाए |

जय हिन्द ,जय भारत 

Related Keyword:

> Republic day speech for student in English

> Republic Day Images for WhatsApp and Facebook 

Short speech on republic day in Hindi

> Republic day speech in English


Share:

0 comments:

Post a Comment

Copyright © Republic Day Speech In Hindi, For Teacher ,Student And Kids | Powered by Blogger Frontier